Wehindustan

Follow us on:

Follow us on:

ग्रेटर नोएडा से गायब युवती प्रेमी संग गोंडा में मिली

-गोंडा पुलिस ने युवती को प्रेमी के घर पर मिली
-पूछताछ में प्रेमी युवती स्वेच्छा से आने की बात कबूली

गोंडा/ नोएडा- ग्रेटर नोएडा के सादौपुर गांव से गुरुवार टहलने निकली बीएससी फाइनल ईयर की युवती के अपहरण के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने मामले का खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि छात्रा का अपहरण नहीं हुआ था बल्कि वह अपने प्रेमी के साथ चली गई थी। प्रेमी और छात्रा को पुलिस ने उत्तर प्रदेश के गोंडा से सकुशल बरामद कर लिया है। इज्जत बचाने के चक्कर में घरवालों ने इसे अपहरण का रूप दिया था।
यह था पूरा मामला-
पुलिस के मुताबिक कोतवाली बादलपुर के अंतर्गत आने वाले सादौपुर गांव में पूर्व जिला पंचायत सदस्य व पूर्व प्रधान अजय पाल की पोती (22) परिवार के साथ रहती है और बीएससी फाइनल ईयर में पढ़ रही है। इस समय वह नीट की तैयारी कर रही है। छात्रा के परिजनों का आरोप था गुरुवार को छात्रा अपने भाई-बहनों के साथ की सुबह टहलने के लिए निकली थी तभी कार सवार बदमाशों ने उनकी बेटी का अपहरण कर लिया था। इस घटना के विरोध में परिजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर नेशनल हाईवे-91 जाम कर जमकर हंगामा किया था।


पुलिस ने प्रेमी संग युवती को गोडा से किया बरामद-
पुल‍िस ने मामले की जांच के ल‍िए स्‍पेशल टीम बनाई थी। पुल‍िस की शुरुआती जांच मे म‍िले संकेत चौंकाने वाले थे। पुल‍िस ने मोबाइल सर्विलांस की मदद से छात्रा की लोकेशन ट्रेस की और उसे खोज न‍िकाला। पुल‍िस ने पूछताछ में पाया क‍ि छात्रा के अपहरण का मामला पूरी तरह फर्जी है। क्‍योंकि घटना के एक द‍िन पहले ही छात्रा खुद से प्रेमी के साथ घर से चली गई थी। पुल‍िस ने बताया क‍ि छात्रा के घरवालों ने इज्जत बचाने के चक्कर में अपहरण कांड रच द‍िया। पुल‍िस ने छात्रा को प्रेमी संग गोंडा से बरामद किया है।


घर वालों ने रची झूठी कहनी-
बादलपुर पुलिस ने शुक्रवार को लापता छात्रा को उसके प्रेमी अनिमेष तिवारी के साथ जनपद गोंडा से बरामद कर लिया है। एसीपी योगेंद्र सिंह का कहना है कि आरोपी और छात्रा बालिग हैं और वह अपनी मर्जी से अपने प्रेमी के साथ गई थी।
पुलिस को बताया गया था कि गुरुवार सुबह स्वाति अपनी छोटी बहन खुशी, भाई भानु और किट्टू के साथ सैर पर निकली थी। सादुल्लापुर रेलवे फाटक के पास एक कार उनके पास आकर रुकी। कार सवार बदमाशों ने खुशी को अगवा करने की कोशिश की। जब स्वाति अपनी बहन को बचाने पहुंची तो बदमाशों ने खुशी को छोड़ दिया और स्वाति को कार में अगवा कर फरार हो गए। घटना की सूचना एक राहगीर ने तुरंत पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की, लेकिन अपहरणकर्ताओं के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली।

इसके बाद छात्रा के अपहरण की सूचना आसपास के गांवों में फैल गई और घटना के विरोध में ग्रामीण नेशनल हाईवे-91 पर पहुंचे और छात्रा को जल्द बरामद करने की मांग को लेकर सड़क जाम कर हंगामा किया। डीसीपी सेंट्रल नोएडा हरिश्चंद्र ने बताया था कि छात्रा के अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस की पांच टीमें अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुटी हैं।